दिल्ली की संजना की चुदाई -2


hindi chudai ki kahani मैने अपना लंड उसकी चूत के बीच रखा और एक ही धक्के में अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल दिया. मैने अपनी एक उंगली उसकी गांड में डाल दी और बहुत ही तेज़ी के साथ उसकी चुदाई करने लगा. मैं उसको इतनी तेज़ चोद रहा था की वो अपने आप को संभाल नहीं पा रही थी और ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थी, चोदो मेरे राजा, आज मेरी चूत की चटनी बना डालो, अपना पूरा लंड इसमें डाल कर खूब ज़ोर ज़ोर से चोदो, अपने लंड के पानी से मेरी इस प्यासी चूत को भिगों दो, मुझे इस चूत ने बहुत परेशान कर रखा है. मेरा पति 2 महीने में केवल 5-6 बार ही चोद पाता है. मैं भूखी रह जाती हूँ. आज तुम मेरी चूत का घमंड एक दम चूर-चूर कर दो. तुम बहुत अच्छा चोद रहे हो. आज मुझे इस चुदाई में जो मज़ा आ रहा है उतना मुझे अपने पति से चुदवाने में कभी नहीं आया. इस चुदाई को मैं ज़िंदगी भर याद रखूँगी. मेरे पति ने मुझे कभी इतना मज़ा नहीं दिया. मुझसे सहन नहीं हो रहा है, तुम अपने लंड का पानी जल्दी से मेरी चूत में निकाल दो.

मैने उसे बहुत ज़्यादा जोश में देखा तो मैने अपनी पूरी उंगली उसकी गांड में डाल दी. वो चिल्ला उठी, क्या कर रहे हो, दर्द हो रहा है, मर जाऊँगी मैं, मत करो ऐसा, मुझ में इतनी ताक़त नहीं है की मैं दोनो छेद में एक साथ सहन कर पाऊँ. मैने एक हाथ से उसकी चूचियों को मसलना शुरू कर दिया तो वो शांत हो गयी. वो अपना चूतड़ तेज़ी से आगे पीछे करते हुये मेरा साथ देने लगी. अब तक मुझे चोदते हुये लगभग 30 मिनिट बीत चुके थे और मेरा भी पानी निकलने वाला था. मैं उसे पूरी ताक़त के साथ और तेज़ी से चोदने लगा. 2 मिनिट में ही मेरा पानी निकलने लगा और उसकी चूत भरने लगी. मेरा पानी निकलते ही वो एक दम शांत हो गयी जैसे उसकी प्यासी चूत को पानी मिल गया हो. इस दौरान उसकी चूत से भी 4 बार पानी निकल चुका था. मैने अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाला तो देखा की उसकी चूत एक दम सूज गयी थी क्योंकी मेरा लंड शायद उसके पति के लंड से मोटा और लंबा था.

उसकी चूचियाँ मेरे मसलने से एक दम लाल लाल हो गयी थी. मैं उसके बगल में लेट गया. हम थोड़ी देर तक वैसे ही लेटे रहे. 15 मिनिट बाद ही वो फिर से चुदवाने के लिए तैयार हो गयी. वो अपनी चूत को साफ करने के लिये बाथरूम जाना चाहती थी लेकिन वो खड़ी नहीं हो पा रही थी. मैने उसे सहारा देकर खड़ा किया और बाथरूम ले गया. बाथरूम में जाकर उसने पहले मेरा लंड साबुन लगाकर साफ किया और उसके बाद वो अपनी चूत धोने लगी. हम बाथरूम से वापस आये. वो बेड के किनारे पर एक तकिया रख कर बैठ गयी. मैने उसके सारे बदन को चूमना शुरू कर दिया. वो जोश में आने लगी. मैने उसकी चूत को चूमना शुरू किया तो वो एक दम मस्त हो गयी. जोश के मारे उसकी चूत एक दम गर्म हो गयी थी.

मैने अपनी जीभ उसकी चूत के अंदर डाल दी और घूमाने लगा. वो पागल सी होने लगी और उसने मेरे सर को कस कर पकड़ लिया. वो एक दम स्वर्ग का मज़ा ले रही थी. वो बोली, चाटो मेरे राज़ा, मेरे पति ने कभी मेरी चूत को नहीं चाटा, मैं बहुत खुश नसीब हूँ की मुझे अपनी चूत को चटवाने का मज़ा भी मिल रहा है, मेरी चूत को चाट चाट कर इसका पानी निकाल दो, एई….. बहुत मज़ाआ….. आयाया…… रहा…… है…… और…. ज़ोर…. से…. बस….. मेरा….. पानी….. निकलने ही वाला…… है…. एयाया….. मैं एयेए….. गइई…… और तेज़….. तेज़….. थोड़ी देर तक उसकी चूत को चाटने के बाद वो झड़ गयी. मैने उसकी चूत से निकला हुआ सारा जूस चाट लिया. फिर मैने एक क्रीम ले कर उसकी गांड पर लगाई. क्रीम लगाने के बाद मैने अपना लंड उसकी गांड के छेद पर रखा तो वो बोली, प्लीज, मैं पहली बार गांड मराने जा रही हूँ, ज़रा धीरे धीरे करना. मैने कहा, ठीक है. मैने अपना लंड उसकी गांड में धीरे धीरे घुसाना शुरू किया तो वो सिसकारियाँ भरने लगी. अभी तक केवल मेरा सूपाड़ा ही उसकी गांड में घुसा था.

मैने थोड़ा ज़ोर लगाया तो मेरा लंड उसकी गांड में 2 इंच तक घुस गया. वो रोने लगी तो मैने अपना लंड बाहर निकाल लिया. वो कुछ समझ नहीं पाई. मैने अपना लंड फिर से उसकी गांड के छेद पर रखा और पूरी ताक़त के साथ एक धक्का लगा दिया. मेरा आधा लंड उसकी गांड में घुस गया. वो बहुत ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने और रोने लगी. मैने उसकी कोई परवाह नहीं की और पूरी ताक़त के साथ एक ज़ोरदार धक्का और मारा. मेरा पूरा लंड उसकी गांड में घुस गया. वो बहुत ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी और अपने सर के बाल नोचने लगी. मैं रुका नहीं और मैने अपना लंड उसकी गांड में तेज़ी के साथ अंदर बाहर करना शुरू कर दिया. थोड़ी ही देर बाद उसका दर्द कम हो गया और उसे गांड मराने में भी मज़ा आने लगा. वो तेज़ी के साथ अपना चूतड़ आगे पीछे करते हुये गांड मराने लगी. लगभग 30 मिनिट के बाद मैं उसकी गांड में ही झड़ गया.

जब मेरे लंड का पूरा पानी निकल गया तो मैने अपना लंड उसकी गांड से बाहर निकाला. उसकी गांड एक दम चौड़ी हो चुकी थी. उसके बाद हम दोनो लेट गये और आराम करने लगे. उसने उस दिन मुझे घर नहीं जाने दिया. पूरी रात वो मुझसे चुदवाती रही. मैने उस रात उसकी 4 बार चुदाई की और 2 बार उसकी गांड भी मारी. आज तक वो अपने पति के ना रहने पर मुझसे खूब चुदवाती है

धन्यवाद..

Updated: May 7, 2019 — 9:50 pm
Meri Gandi Kahani - Desi Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone